मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देघाट में अगस्त क्रांति 1942 की प्लेटिनम जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में दूरभाष पर जनता को किया संबोधित। मौसम की ख़राबी के कारण नहीं हो सके सम्मिलित। की कई घोषणाएँ।

Chief Minister Shri Trivendra Singh Rawat addressed the public on telephone in the program organized on the occasion of Platinum Jubilee of August Revolution 1942 in Deghat. Caused Mr. CM Could not be reached their due to weather degradation.

भारत छोड़ो आंदोलन में जिन स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं शहीदों ने अपने प्राण न्यौछावर कर हमें आज खुली हवा में सांस लेने का अवसर दिया है, उन्हंे हमेशा याद रखा जायेगा। खराब मौसम के कारण कार्यक्रम स्थल पर न पहुॅच पाने के कारण मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को अगस्त क्रंाति 1942 की प्लेटिनम जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में दूरभाष पर जनता को संबोधित करते हुए उक्त बात कही। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र ने कहा कि भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान अनेक वीर शहीद हुए है, अनेक जेल गये एवं अनेक वीरो को फांसी पर चढाया गया। उन्होंने कहा कि शहीदों एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के उनके बलिदान के लिए सदैव याद किया जायेगा। देघाट के शहीद हीरामणी एवं हरी कृष्ण उप्रेती जिन्होंने 1942 में भारत छोड़ो आन्दोलन में अग्रिम भूमिका निभाई थी, उनको नमन करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके सपनों को साकार करने के साथ ही आजादी को अक्षुण बनाये रखना हम सभी की जिम्मेदारी है। कार्यक्रम को दूरभाष पर संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने विभिन्न विकास कार्यों की घोषणा की। जिनमें देघाट स्याल्दे में हैलीपैड का निर्माण कार्य, देघाट शहीद स्मारक भवन का विस्तार व शहीद पार्क का निर्माण झूले, बैंच सोलर लाईट व फाॅउन्टेन लगा कर किया जायेगा। स्याल्दे में 2011 से स्वीकृत स्टेडियम का शीघ्र निर्माण, देघाट में मसानगढ़ी व विनोद नदी से जैनल तक रामगंगा नदी में बाढ़ सुरक्षा हेतु आवश्यक स्थानों पर तटबन्ध बनाये जायेंगे, मसानगढ़ी विनोद नदी में छोटछोटे बाॅध बनाकर पेयजल, सिंचाई व पर्यटन सुविधाओं हेतु कार्य का निर्माण किया जायेगा, छिनघाटदेघाट पेयजल योजना का पुनर्गठन किया जायेगा। इसके साथ ही लम्बित महरौलीचित्तौड़खाल, सदेमहरगाॅव, ऐराड़ीबिष्टराम सिंह किचार, कारगिल शहीद आनन्द सिंह रावत गिवाईपानी मरचूलाभिकियासैंण मोटर मार्ग की वित्तीय स्वीकृति प्रदान कर शीघ्र निर्माण किया जायेगा। सल्ट विधानसभा की लम्बित सड़कों (देघाटजौरासी, चम्याड़ीनारायण मन्दिर, नागचूलाखाल, देघाटलालनगरी, घुघती केलानीमसमोली, तामाढौनगोलनाखल्डुवा, जौरासीग्वानीबीना, गैरखेतजौरासी) के वनभूमि प्रस्ताव शीघ्र स्वीकृत हेतु भारत सरकार को भेजे जायेंगे और निर्माण हेतु वित्तीय स्वीकृति प्रदान की जायेगी, कैहड़गाॅव, पालपुर, तामाढौन, गोलना, खल्डुवा, जौरासीग्वालबीना, गैरखेतजौरासी के वनभूमि प्रस्ताव शीघ्र स्वीकृति हेतु भारत सरकार को भेजे जायेंगे और निर्माण हेतु वित्तीय स्वीकृति प्रदान की जायेगी। तालेश्वर मंदिर को तामाढौनगोलनाखल्डुवाघटगाड से मोटर मार्ग से जोड़ा जायेगा, गगासउड़ी महादेवसौलापानीभिकियासैंणमरचूला मोटर मार्ग को राजा हरूहीत मोटर मार्ग के नाम से जाना जायेगा। स्याल्दे विकासखण्ड में पौराणिक मन्दिर तालेश्वर, भैरव मन्दिर, नारायण मन्दिर, शिव मन्दिर कैहड़गाॅव का सौन्दर्यीकरण व पर्यटक केन्द्र का निर्माण किया जायेगा। सल्ट विधानसभा के सभी इण्टर कालेजो में शौचालयों का निर्माण एवं देघाट बाजार हेतु पेयजल योजना का निर्माण किया जायेगा। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को कार्यक्रम स्थल, देघाट में अगस्त क्रंाति 1942 की प्लेटिनम जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करना था। लेकिन मौसम खराब होने के कारण मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद उक्त कार्यक्रम में नही पहुंच पाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *